POLA Tihar 2023 || Pola kab hai 2023

pola tihar । pola festival in chhattisgarh ! pola 2023 ! cg pola festival 2023

 पोलाति हार 2023  pola tihar ki hardik shubhkamanaye 



pola tihar image,status,photo
pola 2023

पोला तिहार, या बैल पोला 

भाद्र माह में यह त्‍यौहार मुख्‍य रूप से कृषकों द्वारा मनाया जाता है इसमें मिट्टी के बैल और पोला बनाए जाते हैंइस दिन बैलों को सजा कर बैल दौड़ प्रतियोगिता की जाती हैं। छत्तीसगढ़ के साथ ही अन्‍य राज्‍य में जेसे पोला पर्व महाराष्‍ट्र में भी बड़ी धुम धाम से मनाया जाता हैं इसे बैल पोला भी कहते हैं। 


  • पोला तिहार आयोजन- भाद्रपद
    अमावस्‍या
  • पोला तिहार विशेष- इस पर्व में
    मिट्टी के बैलों की पूजा की जाती हैं।
  • पोला का अर्थ(cg pola festival 2023)-
  • पोला कब है 2023 pola tihar kab hai) - 14 सितम्‍बर 2023
  • छत्तीसगढ़ में पोला
    कब हैं (pola tyohar kab hai)
     - 14 सितम्‍बर 2023



पोला तिहार का महत्‍व

इस दिन किसान बैलों को सजाते हैं। पोला जो कि किसानों का त्‍यौहार है पोला तिहार राज्‍य वाशियों द्वारा
धूम धाम से मनाया जा रहा हैं। इस वर्ष 14 सितम्‍बर 2023 को पोला पर्व मनाया जा रहा हैं। इस दिन बैलों की पूजा की जाती हैं। पोला पर्व किसानों की समृद्धि का पर्व
हैं।

pola tihar image,status,photo
pola 2023

  • See more💬तीजा पोरा तिहार 2023: महत्‍व, मान्‍यता, पूजा विधि 

पोला तिहार का आयोजन

बाजार एवं सड़क के किनारे मिट्टी से निर्मित खिलौनों की बाजार सजती हैं। इस दिन एक अलग ही खुशियों वाला माहौल होता हैं। बाजार हाट चौराहों में लकड़ी के खिलौने भी बिकतें देखे जाते हैं। पोला तिहार में बैल स्‍पर्धा कराई जाती है यह अत्‍यंत ही रोमांचक होता हैं। यह परंपरा ग्रामीण स्‍तर पर लोकप्रिय है । पोला तिहार(pola 2023) में विभिन्‍न खेलो का आयोजन किया जाता हे गांव के मैदान या मंडप में भीड़ इकटठी होती है। उत्‍साह के साथ
महिलाएं
 लड़के लड़के इन खेलों में भाग लेते हैं। इन
खेलों में गिल्‍ली डंडा
,मटका फोड, , लंगड़ी फुगड़ी दोड़ और कुर्सी दौड़ आदि अनेक खेल खेला जाता हैं। और पुरस्‍कार वितरण किया जाता हैं।

pola tihar image,status,photo
pola 2023


बैलों की दौड़ का आयोजन 

पोला तिहार में पर्व पर मैदान में बैल दौड़ का आयोजन किया जाता है किसान अपने बैलों के जोड़ा का सजाकर तैयार कर प्रतियोगिता में भाग लेते हैं। जितने वाले
किसान को इनाम देकर सम्‍मानित किया जाता है|


पोला पर्व में पूजा विधि

भगवान शंकर के वाहन नंदि बैल की पूजा करने की  परंपरा पोला तिहार में संम्‍पन्‍न होती है। सुबह बैलों को नहलाकर तैयार किया जाता है। पारंपरिक व्‍यंजनों एवं मिठाई का भोग लगाया जाता हैं। साथ ही बर्तनों (मिट्टी से बनी) की पूजा की जाती हैं। मंदिरां में भजन पूजन किया जाता हैं।

  • See more-✅हिन्‍दी दिवस 2023 महत्‍व , भाषण, निबंध ,नारे स्‍लोगन  

  • See more🌾नवाखाई 2023 तिहार छत्तीगसढ़ 

tags-pola tyohar kab hai,cg pola festival 2023,pora tihar kab hai,2023 pola kab hai,pola kab hai 2023,pola tihar kab hai 2023

No comments:

Powered by Blogger.